हाथरस दरिंदगी की घटना के बाद पूरे देश में उबाल, जगह-जगह हो रहे प्रदर्शन मोरवा में कांग्रेसियों ने कैंडल मार्च निकालकर जताया विरोध ।

Spread the love

सिंगरौली (मध्य प्रदेश)
उत्तर प्रदेश के हाथरस की बिटिया के साथ दरिंदगी और उसके बाद हुई उसकी मौत को लेकर देश भर में आक्रोश है। घटना को लेकर जगह-जगह धरना-प्रदर्शन हो रहे हैं और आरोपियों को जल्द सख्त सजा की मांग की जा रही है। वहीं दुष्कर्म पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मौत के बाद विपक्षी पार्टियों ने योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस घटना में पुलिस ने परिजनों की मर्जी के बगैर गैंगरेप पीड़िता का जबरन बीती देर रात अंतिम संस्कार कर दिया। गौरतलब है कि अलीगढ़ के अस्पताल में हालात बिगड़ने के बाद पीड़िता को दिल्ली लाया गया था, जहां उसने दम तोड़ दिया। पुलिस पर पहले केस को लेकर लापरवाही बरतने का आरोप लगा था, लेकिन बीती रात परिवार की गैरमौजूदगी में जिस तरह पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया उससे यूपी पुलिस के व्यवहार पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं।

मोरवा क्षेत्र में भी इसे लेकर लोगों में आक्रोश देखने को मिला। बुधवार देर शाम कांग्रेस पूर्व जिला महासचिव शेखर सिंह की अगुवाई में दर्जनों कांग्रेसियों ने कैंडल मार्च निकालकर इस घटना पर विरोध जताया।
एलआईजी चौराहे से शुरू कर मुख्य बाजार, फल मंडी, मोरवा थाना रोड होते हुए दर्जनों लोगों ने हाथरस की बेटी को जल्द इंसाफ देने के नारे लगाए। इस दौरान शेखर सिंह ने कहा कि भाजपा की सरकार में महिलाएं सुरक्षित नहीं है और यूपी पुलिस की भूमिका अत्यंत निंदनीय है। ऐसे में सरकार और महिलाओं की सुरक्षा के मामले में सरकार फेल हो चुकी है
इस कैंडिल मार्च में शेखर सिंह के साथ विजय सिंह बिष्ट, विवान खान (राजा), मंजूर आलम, सुनील नयारिया, संजय सिंह उर्फ चिंटू , साहेब अंसारी, अरशद खान, समीर अंसारी, पुनीत ओझा, राजेंद्र सिंह, शिवा बाल्मीकि, सागर बाल्मीकि, महेश बाल्मीकि सुरेश बाल्मीकि, वसीम आलम शामिल रहे।

सिंगरौली लाइव

पैनी नज़र,पक्की ख़बर