नकली सोने को असली बताकर बेचने वाला अंतरराज्यीय ठग गिरोह को मोरवा पुलिस ने किया गिरफ्तार एक सोनार सहित पांच धराए, नकली सोने के बिस्कुट, असली सोना, मोटरसाइकिल, मोबाइल, चाकू समेत भारी मात्रा में नकदी जप्त

Spread the love


पत्रकारों को संबोधित करते हुए एसडीओपी राजीव पाठक साथ में आरोपी के साथ मोरवा पुलिस बल

सिंगरौली-
जिले में नकली सोने को असली बताकर कम दामों में बेचने वाले अंतरराज्यीय ठग गिरोह का मोरवा पुलिस ने भंडाफोड़ करते हुए 5 आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। पुलिस अधीक्षक बिरेंद्र कुमार सिंह के निर्देशन व एसडीओपी राजीव पाठक की सतत् निगरानी में मोरवा निरीक्षक मनीष त्रिपाठी द्वारा गठित टीम ने आरोपियों को उस समय धर दबोचा जब वह एक व्यक्ति को ठगने के फिराक में थे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार को जे बी शाही ठेकेदार के यहां कार्य करने वाला प्रार्थी इंद्रजीत सिंह निवासी तोरमा जिला चंदौली उत्तर प्रदेश जब दूधमनिया के पास रोड का कार्य करा रहा था, तब रामदास साहू नामक व्यक्ति ने उसे धीरे-धीरे परिचय कर बताया कि गोरबी खदान में लेबरों को कार्य के दौरान 12 सोने के बिस्कुट मिले हैं, जिसमें एक लेबर को चार बिस्कुट मिले है। वह हर एक बिस्कुट 1.5 लाख में दे रहा है। प्रार्थी आरोपी रामदास की बातों में आकर 10 हजार रुपए की व्यवस्था कर उसके साथ गोरबी जंगल गया, जहां आरोपियों के अन्य साथी मिले और सोने के बिस्कुट दिखाकर तसल्ली कराने लगे और उससे एडवांस रूप 10 हज़ार ले लिए तथा 1 लाख 30 हज़ार और लाने की बात हुई। अगले दिन ठगी के इंतजार में बैठे आरोपी उससे रेलवे स्टेशन में मिले और गोरबी के समीप जंगलों में ले गए, जहां पूरे पैसे ना होने पर प्रार्थी के पास रखे 20 हज़ार भी छुड़ा लिए।

लालच में आकर ठगी का शिकार हुए इंद्रजीत सिंह ने मोरवा थाने पहुंचकर अपनी आपबीती सुनाई। जिस पर मोरवा निरीक्षक द्वारा अपराध क्रमांक 493/ 20 धारा 417, 420, 468, 386, 34 भादवि कायम कर आरोपियों की तलाश की जाने लगी। मुख्य आरोपी रामदास साहू निवासी पतेरी को गोरबी से अपने साथी जमुना साहू के साथ गिरफ्तार किया गया। वहीं अन्य आरोपी नियामी गोड़ निवासी डगा व जमालुद्दीन निवासी कसर को बरगवां से गिरफ्तार किया गया। सख्ती से पूछताछ के दौरान आरोपियों ने आधा दर्जन से अधिक वारदातों को अंजाम देना कबूल किया है। जिसमें बीते माह विंध्यनगर क्षेत्र में एक शिक्षक के साथ ठगी करना, वहीं बरगवां थाना क्षेत्र में भी लोगों को शिकार बनाना जैसे अपराध शामिल है। बताया जाता है कि इन आरोपियों पर विभिन्न थाना क्षेत्रों में मामले दर्ज हैं।
बैढन कटरा स्थित रामअवतार सोनी की सोने की दुकान में आरोपियों द्वारा नकली सोने की सिल्ली 200 ग्राम बनवाया गया था, जिस पर उक्त सोनार को भी गिरफ्तार कर न्यायालय भेजा गया है।

उक्त कार्यवाही में उपनिरीक्षक सरनाम सिंह, सहायक उपनिरीक्षक साहब लाल सिंह, प्रधान आरक्षक संतोष सिंह, अरविंद चौबे, डीएन सिंह, आरक्षक संजय परिहार, राहुल चौहान, रविदत्त पांडे, रामनरेश प्रजापति, बिष्णु रावत व महिला आरक्षक जयाअंजली दुबे, ज्योति पांडे की अहम भूमिका रही।

सिंगरौली लाइव

पैनी नज़र,पक्की ख़बर