*सूर्य की उपासना का महापर्व छठ* *उगते हुए सूर्य को अर्ध्य देकर आस्था के महापर्व का हुआ समापन*

Spread the love

उगते सूर्य को अर्ध्य देती हुई राष्ट्रीय मां भवानी राजपूताना संघ जिला सिंगरौली महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष श्रीमती नम्रता सिंह।

सिंगरौली-
शनिवार को सूर्यउपासना के महापर्व छठ पूजा का समापन हो गया। शनिवार सुबह को उगते सूर्य को अर्ध्य देकर व्रतियों ने अपना व्रत पूरा किया। मोरवा के विभिन्न घाटों पर सुबह व्रतियों ने प्रातः उदय चलगामी सूर्य को अर्घ्य से व्रत का पारण कर लिया। सूर्य देव की आराधना व कृपा प्राप्ति हेतु महिलाएं भोर से ही हाथ में पूजा व भोग के सामान से भरा सूप लेकर नदी एवं तालाबों में खड़े हो कर प्रतीक्षा करती रहीं। पानी में खड़े होकर व्रतधारियों ने सूप, बांस की डलिया में मौसमी फल, गन्ना सहित पूजन सामाग्री और गाय के दूध से भगवान देव की पहली किरण देखते ही अर्घ्य देकर अपने परिवार की सुख समृद्धि की कामना की। नहाए खाए से शुरु होकर 4 दिनों तक चलने वाले इस महापर्व के दूसरे दिन खरना का प्रसाद चढ़ाकर एवं खाकर व्रती महिलाओं ने 36 घंटे का निर्जला व्रत शुरू किया था। तीसरे दिन डूबते हुए सूर्य को जल से अर्ध्य दिया गया था एवं आज सुबह दूध से अर्ध्य देकर इस महान पर्व की समाप्ति हुई।

सूर्योदय का मनमोहक दृश्य सैकड़ों श्रद्धालु ने दिया उगते सूर्यदेव को अर्ध्य

छठ पर्व का उत्साह स्थानीय बच्चों में भी खूब दिखा
इस अवसर पर बच्चे सुबह तक घाटों पर आतिशबाजी कर महापर्व का आनंद लेते दिखे। हालांकि नगर पालिक निगम सिंगरौली द्वारा श्रद्धालुओं के व्यवस्थित पहुंचने के लिए लाइटिंग की व्यवस्था नहीं की गई। साथ ही घाटों पर समुचित साफ सफाई नहीं रहने से श्रद्धालुओं में नाराजगी देखी गई।

समाजसेवी जुटे रहे सेवा में
विभिन्न समाज सेवियों द्वारा भी मोरवा छठ घाट पर व्रती महिलाओं के अर्ध्य देने के लिए दूध एवं वहां पहुंच रहे श्रद्धालुओं के लिए चाय की व्यवस्था की गई थी। इनके द्वारा ठंड में पहुंच रहे लोगों को चाय की चुस्कियां देने में तत्पर दिखे।

थाना प्रभारी मोरवा टीआई मनीष त्रिपाठी के निर्देशन में जगह जगह पर तैनात चुस्त-दुरुस्त मोरवा पुलिस बल

व्यवस्था बनाने में जुटे रहे पुलिस अधिकारी
यातायात व्यवस्था पुख्ता बनाने एवं अराजक तत्वों पर नकेल कसने के लिए एसडीओपी मोरवा राजीव पाठक एवं निरीक्षक मनीष त्रिपाठी सदल बल घाटों पर डटे रहे।

सिंगरौली लाइव

पैनी नज़र,पक्की ख़बर