राजकुमार पाण्डेय ने कोरोना संक्रमित के लिए किया प्लाज्मा डोनेट, महानगरों के बाद ऊर्जाधानी में पहली बार किसी ने किया प्लाज्मा डोनेट

Spread the love

राजकुमार पाण्डेय कोरोना संक्रमित के लिए प्लाज्मा डोनेट करते हुए

सिंगरौली 29 नवम्बर। कोविड-19 से जूझ रहे गंभीर मरीजों के लिए प्लाज्मा थेरेपी के माध्यम से मरीजों के स्वास्थ्य में सुधार के बाद महानगरों में इससे हुए लाभ के बाद अब ऊर्जाधानी में भी प्लाज्मा थेरेपी के माध्यम से लोग कोविड-19 के गंभीर मरीजों की जान बचाने के लिए अपना प्लाज्मा डोनेट करने के लिए आगे आ रहे हैं।
जिला मुख्यालय एनआरएचएम में पदस्थ राजकुमार पाण्डेय द्वारा जिले के एक कोविड-19 गंभीर मरीज को एपेक्स मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल वाराणसी में अपना प्लाज्मा दान कर गंभीर मरीज को बचाने में अपना बहुमूल्य योगदान दिया है। जानकारी के मुताबिक जैसे ही श्री पाण्डेय को यह जानकारी मिली कि जिले के एक संपादक वाराणसी के एपेक्स मल्टी स्पेशियलिटी हास्पिटल वाराणसी में कोविड की जंग लड़ रहे हैं। श्री पाण्डेय ने वाराणसी पहुंचकर अपना प्लाज्मा डोनेट कर जिले के संपादक को कोविड से जंग को जिताने में अपना योगदान दिया। विदित हो कि कोविड-19 के मरीजों के लिए फिलहाल न तो कोई दवा है और न ही कोई वैक्सीन। ऐसे में स्वस्थ्य हुए कोविड मरीज के रक्त प्लाज्मा में कोरोना वायरस से लडऩे के लिए एंटीबाडीज विकसित होते हैं जो मरीज को स्वस्थ्य करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। कोरोना से जंग जीत चुके ऐसे किसी मरीज का प्लाज्मा कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए लाभदायक होता है। कोविड-19 की जंग में प्लाज्मा थेरेपी के माध्यम से महानगरों में कई गंभीर मरीजों का उपचार किया गया और कई मरीजों को कोरोना की जंग जीतने में सफलता हासिल हुई। लिहाजा ऊर्जांचल में कोरोना से जंग जीत चुके किसी व्यक्ति द्वारा संक्रमित व्यक्ति को अपना प्लाज्मा डोनेट कर कोरोना से जंग जीतने में दिये जाने वाले योगदान का यह पहला उदाहरण है। ऐसे में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के जीवन को बचाने में यह थेरेपी फिलहाल एक मात्र उपाय है और राजकुमार पाण्डेय द्वारा अपना प्लाज्मा दिये जाने की सभी ओर प्रशंसा और सराहना हो रही है। लोगों के जीवन बचाने तथा कोरोना के जंग के खिलाफ लोगों को अपना प्लाज्मा डोनेट करने के लिए आगे आना चाहिए।

सिंगरौली लाइव

पैनी नज़र,पक्की ख़बर