*एनसीएल में नौकरी दिलाने के नाम पर 10 लाख की ठगी करने वाले मुख्य सरगना को मोरवा पुलिस ने रीवा से दबोचा* *ठगी में शामिल एनसीएल कर्मी सहित 3 अन्य भी गिरफ्तार*

Spread the love

*विवेक शुक्ला बैढन ब्यूरो*

सिंगरौली-
        देश की मिनी रत्न कंपनी एनसीएल में फिटर व डील ऑपरेटर के पद परस्थायी  नौकरी दिलाने के नाम पर 4 लोगों से तकरीबन 10 लाख रुपये की ठगी करने वाले मुख्य सरगना सहित 4 लोगों को गिरफ्तार करने में मोरवा पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने जहाँ दबिश दे मुख्य सरगना सौरभ सिंह सहित दो को रीवा व सीधी से गिरफ्तार किया है वहीं ठगी में शामिल एनसीएल कर्मी सहित दो को दुधिचुआ व अनपरा से गिरफ्तार किया गया।

उक्ताशय का खुलासा *एसपी सिंगरौली वीरेंद्र कुमार सिंह* ने पत्रकारों के समक्ष किया। इस दौरान *ए एसपी अनिल सोनकर ,एसडीओपी मोरवा राजीव पाठक , टी आई अरुण पाण्डेय* मौजूद रहे। एसपी श्री सिंह ने आगे बताया कि ठगी के शिकार *फरियादी भागवत प्रसाद वर्मा निवासी एनसीएल कालोनी* ने मोरवा थाना में  रिपोर्ट दर्ज कराकर बताया था कि   *तीन माह पूर्व* उसकी मुलाकात *मुख्य सरगना सौरभ सिंह निवासी रीवा* से हुई थी जिसने बताया था कि वह दुधिचुआ परियोजना में नौकरी करता है और उसकी बड़े-बड़े अधिकारियों से अच्छी जान पहचान है। परिचय के दौरान फरियादी ने  अपने पुत्र द्वारा  एनसीएल में फॉर्म भरने की बात बता दी। जिसके बाद आरोपी सौरभ सिंह ने बड़ी चतुराई से फरियादी को अपने बातों के भंवरजाल में फंसाया और कहा कि *8 से 10 लाख रुपये* लगेंगे जिसके बाद तुरंत नौकरी लग जायेगी। *एसपी श्री सिंह* ने  बताया कि आरोपी की बातो में आकर  फरियादी ने *7 लाख रुपये नगद* दे दिया जिसके बाद ठग गिरोह में शामिल  मुख्य सरगना सहित अन्य लोगों ने बड़ी सफाई से *फर्जी लेटर पैड पर शील मुहर लगाकर आवेदक सौरभ वर्मा व प्रदीप पनिका* को 14 जनवरी 2021 की तारीख का ज्वाईनिंग लेटर दे दिया। इतना ही नही ज्वाईनिंग लेटर के साथ बकायदे क्वार्टर एलाटमेंट व मेडिकल कार्ड आदि भी दे दिया था।जिसे देख किसी को भी भरोसा हो जाएगा कि यह ज्वाईनिंग नकली नही बल्कि असली है। इधर जब दोनों आवेदक निर्धारित तिथि पर जब एनसीएल में ज्वाइन करने गए तो वहां के जिम्मेदार लोगों ने बताया कि यह ज्वाईनिंग लेटर फर्जी है, जिसको सुनने के बाद आवेदको के पैर से मानो जमीन खिसक गई।

*ठगी में ये रहे शामिल आरोपी*

लंबे समय से ठगी को व्यवसाय के तरह अंजाम देने में *मुख्य सरगना सौरभ सिंह निवासी बरहदी रीवा के साथ  अनिल सिंह  निवासी सीधी, एनसीएल कर्मी रविंदर सिंह निवासी दुधिचुआ व ब्रजेश भारद्वाज निवासी अनपरा* शामिल रहे हैं।

*वै ढ़ न, विन्ध्यनगर व मोरवा थाना क्षेत्र में नौकरी के नाम पर की ठगी*

एसपी सिंह ने बताया कि गिरफ्तार उक्त नटवरलाल गिरोह आदतन अपराधी है और लोगों को नौकरी दिलाने के नाम पर उनसे ठगी करने का काम करते है। बताया कि विन्ध्यनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम चंदावल निवासी कृष्णा साकेत को एनसीएल में नौकरी दिलाने दिनांक 15 मार्च 2020 को लाखो रुपये ठग लिया। इसके अलावा वै ढ़ न थाना क्षेत्र निवासी दिनेश कुमार से गत दिनांक 5 जनवरी 2021 को लाखों रुपये ऐंठे। पूछताछ में आरोपियों ने सभी लोगों से ठगी का गुनाह स्वीकार किया।

*मुख्य आरोपी सौरभ 2018 में  एक वर्ष रह चुका है कारावास में*
बताया गया कि आरोपी सौरभ सिंह को कोतवाली पुलिस ने 2018 में नौकरी के नाम पर ठगी करने के आरोप में एक वर्ष के लिए जेल भी भेजा था, जहाँ से एक वर्ष की सजा भुगतने के बाद सुधरने के बजाय पुनः अपने पुराने काम मे लग गया और अन्य साथियों के साथ मिलकर दोबारा ठगी करने लगा।

सिंगरौली लाइव

पैनी नज़र,पक्की ख़बर