*जीपी पैलेस का संचालक निकला बंगाल के चर्चित अपहरण व 2 करोड़ 60 लाख फिरौती का मास्टरमाइंड* *कोतवाली पुलिस के सहयोग से कोलकाता क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार* *बिहार, झारखंड ,पश्चिम बंगाल व यू पी के कई घटनाओं में है शामिल*

Spread the love

सिंगरौली-
पश्चिम बंगाल के जिला बर्दमान अंतर्गत थाना सलानपुर में दो लोगों का अपहरण कर 2 करोड़ 60 लाख की फिरौती वसूलने के अपराध में वांटेड मुख्यालय स्थित नामचीन होटल जीपी पैलेस के संचालक को वै ढ़ न टी आई अरुण पाण्डेय के नेतृत्व 18 सदस्यीय पुलिस की टीम ने जिसमे पश्चिम बंगाल क्राइम ब्रांच के तीन ऑफिसर शामिल थे, बुधवार तड़के आरोपी के गनियारी स्थित आवास में दबिश दे घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया। शहर के बीच स्थित नामचीन होटल के संचालक के गिरफ्तारी की खबर जंगल मे फैली आग की तरह पूरे शहर में फैल गयी। पहचान छुपा कर कई वर्षों से सिंगरौली जिले में ठेकेदार व होटल व्यवसायी बने शातिर चंद्र मोहन जो बिहार के चंदन सोनार अपहरण कर्ता गिरोह का मुख्य सरगना है कोतवाली पुलिस टीम व बंगाल क्राइम ब्रांच की पूरी तरह गोपनीय कार्यवाही में फंस गया।

उक्ताशय की जानकारी में कोतवाली टी आई अरुण पांडेय ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी चंदन सोनार उर्फ चंदन कुमार उर्फ चंद्र मोहन पुत्र श्याम नाथ गुप्ता उम्र 36 वर्ष स्थायी निवासी हाजीपुर बिहार ,हाल पता गनियारी थाना वै ढ़ न जिला सिंगरौली के ऊपर 2019 में पश्चिम बंगाल के जिला पश्चिम बर्दमान के थाना सालनपुर में तेजपाल सिंह व उसके चालक का अपहरण कर 2 करोड़ 60 लाख की फिरौती वसूलने का आरोप है और उक्त अपराध में वांटेड था। जिसकी बंगाल पुलिस व क्राइम ब्रांच सरगर्मी से तलाश कर रही थी। टी आई श्री पांडेय के अनुसार कोलकाता क्राइम ब्रांच की सूचना पर कोलकाता से आई तीन सदस्यीय क्राइम ब्रांच की टीम का सहयोग करने कोतवाली पुलिस की गठित 15 टीम ने साथ दिया और आरोपी के गनियारी आवास परबुधवार तड़के दबिश दे गिरफ्तार कर लिया।

2002-03 में अपराध की दुनिया मे रखा कदम–6 वर्ष तक रह चुका है जेल में

पूछताछ में आरोपी ने कोतवाली पुलिस को बताया कि वह बिहार के हाजीपुर जिले का मूलत निवासी है जो कि वर्ष 2002-03 से जब वह हाजीपुर में रहकर पढ़ाई करता था तब से अपराध की दुनिया में प्रविष्ट हो गया था तथा उसके बाद उसने हत्या एवं अपहरण के कई अपराध घटित किए। चंदन सोनार 2006 से 2011 तक रांची हाजीपुरएवं पटना स्थित बेऊर जेल में करीबन 6 वर्ष तक निरुद्ध रहा है जेल से छूटने के बाद अपराधी चंदन सुनार अपनी पहचान छिपाने,काम की तलाश में ठेकेदारी करने के लिए सिंगरौली आ गया जहां सिंगरौली में छोटी मोटी ठेकेदारी करते-करते जीपी पैलेस होटल का संचालक बन गया ,और गनियारी में मकान लेकर रहने लगा।

चंदन सोनार हत्या अपहरणकर्ता गिरोह का है सरगना

हत्या एवं अपहरण का मास्टरमाइंडचन्द्र मोहन उर्फ चंदन सोनार बिहार के हाजीपुर में दहशत का पर्याय बने चंदन सोनार अपहरणकर्ता गिरोह का मुख्य सरगना है। लेकिन पूछताछ में आरोपी ने बताया कि जेल की सजा काटने के बाद 2011 से किसी भी अपराधमें उसका हाथ नही है। बरहाल कोतवाली पुलिस के सहयोग बंगाल पुलिस अपने साथ ले गयी।

अपहरण व फिरौती में संलिप्त 6 गिरफ्तार

टी आई श्री पांडेय के अनुसार अपहरण व फिरौती प्रकरण में अभी तक बंगाल पुलिस द्वारा छह आरोपियो की गिरफ्तारी की जा चुकी है। इसके अलावा आरोपी का संपूर्ण डेटाबेस एवं आरोपी के अपराधों की जानकारी बिहार झारखंड ,पश्चिम बंगाल व उत्तर प्रदेश से एकत्रित की जा रही है।

इनकी रही भूमिका

शातिर आरोपी की गिरफ्तारी में टीआई बैढ़न निरीक्षक अरुण पांडे,उपनिरीक्षक विजय पुष्कर,Asi बीपी कॉल, प्रधान आरक्षक 333 गणेश रावत, प्रधान आरक्षक 305 प्रवीण सिंह, आरक्षक 407 अंचल सेन, आरक्षक रामकुमार बागरी, आरक्षक माधव प्रताप, आरक्षक राजभर रावत आदि की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

सिंगरौली लाइव

पैनी नज़र,पक्की ख़बर